चुनाव बड़ी खबर

29 विधानसभा और 3 लोकसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए मतदान संपन्न

नई दिल्ली। 13 राज्यों की 29 विधानसभा सीटों और 3 लोकसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए शनिवार को मतदान का काम संपन्न हो गया है। मतदान के दौरान किसी अप्रिय घटना की खबर नहीं है। हालांकि पश्चिम बंगाल, बिहार में कुछ जगह सत्तारूढ़ और विपक्षी दलों के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प की खबरें अवश्य हैं।

जिन विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए शनिवार को मतदान हुआ उनमे असम की पांच, बंगाल की चार, मध्य प्रदेश, हिमाचल व मेघालय की तीन-तीन, बिहार, राजस्थान व कर्नाटक की दो-दो और आंध्र प्रदेश, हरियाणा, महाराष्ट्र, मिजोरम व तेलंगाना की एक-एक विधानसभा सीट शामिल हैं।

वहीँ शनिवार को ही लोकसभा की 3 सीटों के उपचुनाव के लिए मतदान संपन्न हुआ, इनमे मध्य प्रदेश की खांडवा लोकसभा सीट, दादरा नगर हवेली लोकसभा सीट और हिमाचल प्रदेश की मंडी लोकसभा सीट शामिल है।

जानकारी के मुताबिक सबसे कम मतदान बिहार की कुशेश्वरस्थान सीट पर 49% और हरियाणा की ऐलनाबाद सीट पर सबसे अधिक 80 फीसदी मतदान हुआ।

पश्चिम बंगाल को छोड़कर अन्य राज्यों में अधिकांश सीटों पर कांग्रेस और बीजेपी के बीच सीधा मुकाबला है। आज संपन्न हुए मतदान के बाद उपचुनाव के सभी उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम में कैद हो गयी है। 2 नवंबर को मतगणना होगी और उसी दिन परिणाम घोषित किये जायेंगे।

जनता में डर पैदा कर रही सरकार- तेजस्वी

राष्ट्रीय जनता दल नेता तेजस्वी यादव ने उपचुनाव में धांधली का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा, “तारापुर, कुशेश्वरस्थान में उपचुनाव चल रहा है, सरकार पूरी कोशिश कर रही है किस प्रकार जनता में डर पैदा किया जा सके। तेजस्वी ने आरोप लगाया कि उपचुनाव में सत्तारूढ़ दल द्वारा धन,बल का भी प्रयोग किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हमें खबर मिल रही है कि राजद के प्रत्याशी जीत रहे हैं। हर वर्ग के लोगों का वोट हमें मिल रहा है।”

मध्य प्रदेश में सभी सीटों पर कांटे की टक्कर:

मध्य प्रदेश में आज 3 विधानसभा सीटों और लोकसभा की एक सीट पर हुए चुनाव में सीधे तौर पर सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी और मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला है। उपचुनाव में बीजेपी के लिए सबसे बड़ी रुकावट मंहगाई और किसानो का मुद्दा माना जा रहा है।

हालांकि सत्तारूढ़ बीजेपी ने उपचुनाव में पूरी एड़ी छोटी की ताकत झौंक दी थी लेकिन जानकारों की माने तो चुनाव प्रचार के दौरान मंहगाई और किसानो के मुद्दे पर सत्तारूढ़ दल के नेता सवालो से बचते रहे।

राजस्थान में गहलोत की परीक्षा:

राजस्थान में दो सीटों के उपचुनाव के लिए आज मतदान का काम शांतिपूर्वक संपन्न हो गया। विधानसभा की दो सीटों पर हुए उपचुनाव को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की परीक्षा के रूप में देखा जा रहा है। जानकारों के मुताबिक उपचुनाव के परिणाम मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की लोकप्रियता और उनकी सरकार के कामकाज पर जनता की मुहर के तौर पर देखे जायेंगे।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें