दुनिया बड़ी खबर

राफेल डील पर फ्रांस के मीडिया का बड़ा खुलासा: बिचौलिए को दिया गया 65 करोड़ रुपये कमीशन

नई दिल्ली। राफेल डील को लेकर कांग्रेस शुरू से ही मोदी सरकार पर सवाल खड़े कर रही है। वहीँ अब फ़्रांस के एक पोर्टल (Media Part) ने बड़ा खुलासा किया है। पोर्टल ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि राफेल डील में फ्रांसीसी विमान निर्माता दसॉल्ट ने एक बिचौलिए को 7.5 मिलियन यूरो (65 करोड़ रुपये) का कमीशन दिया था।

रिपोर्ट में दावा किया गया है कि भारत को 36 राफेल लड़ाकू विमानों की बिक्री के लिए दिए गए इस कथित कमीशन के दस्तावेज भारतीय एजेंसियों के पास मौजूद होने के बाद भी इस मामले की जांच नहीं की गई।

रिपोर्ट में खुलासा किया गया है कि पोर्टल का कहना है कि सीबीआई और ईडी के पास अक्टूबर 2018 से सबूत मौजूद हैं कि दसॉल्ट ने भारत को राफेल की बिक्री को सुरक्षित करने के लिए सुशेन गुप्ता को रिश्वत दी थी। इस कथित भुगतान का बड़ा हिस्सा 2013 से पहले किया गया था। इससे जुड़े दस्तावेज भी मौजूद हैं। इसके बावजूद भारतीय पुलिस ने मामले की जांच शुरू नहीं की।

रिपोर्ट के मुताबिक, दसॉल्ट ने 2001 में सुशेन गुप्ता को बिचौलिए के तौर पर हायर किया, इसी समय भारत सरकार ने लड़ाकू विमान खरीदने का एलान किया था। हालांकि इसकी प्रक्रिया 2007 में शुरू हुई। गुप्ता अगस्ता वेस्टलैंड डील से भी जुड़ा था।

गौरतलब है कि राफेल डील में कथित रिश्वत के मामले को उजाग़र करने वाला फ़्रांस का यह ऑनलाइन जनरल पोर्टल ने 59,000 करोड़ रुपये के राफेल सौदे में भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच कर रहा है। ‘राफेल पेपर्स’ पर मीडियापार्ट की जांच से जुलाई में फ्रांस की राजनीति में हलचल मच गई थी। रिपोर्ट सामने आने के बाद इस मामले में भ्रष्टाचार और पक्षपात के आरोपों में न्यायिक जांच शुरू की गई।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें