देश बड़ी खबर

शंकराचार्य ने कहा “पीएम मोदी ने अपनी नाकामियों को छिपाने के लिए देश में लागू की नोटबंदी”

इलाहबाद । द्वारिका और ज्योतिर्पीठ के शंकराचार्य स्वरूपानंद ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी पर जोरदार हमला बोलते हुए कहा है कि उन्होंने अपनी नाकामियों को छिपाने के लिए देश में नोटबंदी लागू की जिससे किसान से लेकर आम आदमी तक खूब परेशान हो रहा है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी को लेकर पीएम मोदी ने बड़े- बड़े दावे किये थे लेकिन हकीकत यह है कि न तो नकली नोट कम हुए, न भ्रष्टाचार और आतंकवाद।

पीएम मोदी के नोटबंदी के फैसले पर भी सवाल उठाते हुए शंकराचार्य ने इस फैसले को पूरी तरह देश विरोधी बताया। उन्होंने कहा कि नोटबंदी से देश को काफी नुकसान हुआ है, जिसका खामियाजा लोगों को अगले तीन सालों तक भुगतना पड़ सकता है।

उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने अपनी नाकामियों को छिपाने के लिए इस फैसले को लागू किया, क्योंकि मोदी सरकार द्वारा अनाप- शनाप टैक्स लगाने से देश के हालात बिगड़े थे।

उन्होंने आम लोगों को भी मोदी भक्त होने के बजाय देशभक्त होने की नसीहत दी तो साथ ही पीएम मोदी की ख़बरें दिखाए जाने के मामले में मीडिया पर पक्षपात का आरोप लगाया। पीएम मोदी के स्वच्छता अभियान पर निशाना लगाते हुए शंकराचार्य स्वरूपानंद ने कहा कि वह सडकों पर आवारा घूमने वाले कुत्तों के लिए शौचालय क्यों नहीं बनवाते। उन्होंने ज़्यादातर सरकारी कर्मचारियों को भी भ्रष्ट व रिश्वतखोर करार दिया।

द्वारिका और ज्योतिर्पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने यूपी समेत कई राज्यों में हो रहे चुनाव के बीच पीएम मोदी उन्होंने कहा है कि घर – घर शौचालय बनवाकर स्वच्छता अभियान चलाने का पीएम मोदी का फैसला पूरी तरह दिखावा और बेतुका है।

शंकराचार्य ने कहा कि देश में जब लोगों को पीने का पानी नहीं मिल पा रहा है तो ऐसे में मोदी सरकार घर- घर शौचालय बनवाकर पानी को और बर्बाद कर रही है। उनके मुताबिक़ घर – घर शौचालय बनवाने का फैसला कतई सही नहीं है।

शंकराचार्य ने पीएम मोदी के स्वच्छता अभियान का मज़ाक उड़ाते हुए कहा है कि अगर उन्हें सफाई की इतनी ही फ़िक्र है तो उन्होंने अब तक सड़कों पर आवारा घूमने वाले कुत्तों के लिए शौचालय क्यों नहीं बनवाए।

शंकराचार्य स्वरूपानंद ने पीएम मोदी के उस बयान की भी आलोचना की जिसमें उन्होंने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का नाम लिए बिना उनके कामों की कुंडली होने का दावा किया था। शंकराचार्य ने कहा कि इस तरह की बयानबाजी तभी ठीक लगती जब पीएम मोदी अच्छे दिनों के अपने वायदे को पूरा कर लेते। उन्होंने आम जनता को भी नसीहत देते हुए कहा कि “उसे मोदीभक्त नहीं बल्कि देशभक्त बनना चाहिए।” लोगों को समर्थन करने से पहले ठीक से सोचना चाहिए।

शंकराचार्य ने कहा कि कुछ लोग आंख मूंदकर मोदी का समर्थन करते हैं, जो गलत है। शंकराचार्य ने खुलकर कहा कि पीएम मोदी व उनकी सरकार लोगों की उम्मीदों पर खरी नहीं उतर सकी है। उन्होंने बीजेपी के घोषणा पत्र में राम मंदिर निर्माण का मुद्दा शामिल किये जाने पर भी सवाल उठाए और कहा कि यह सिर्फ सियासी स्टंट है। शंकराचार्य ने कहा कि “सरकार चलाने के लिए बीजेपी सेक्युलर हो जाती है और सेक्युलर सरकारें कभी मंदिर नहीं बनवा सकतीं।” उन्होंने आतंकवाद, भ्रष्टाचार, गौहत्या, गंगा प्रदूषण व गौमांस के निर्यात के मुद्दों पर भी मोदी सरकार की जमकर आलोचना की आलोचना की।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *