देश बड़ी खबर

अनाथालय से बच्चों को विदेश में बेचने वाले रैकेट में बीजेपी नेत्री का नाम आने से हड़कंप

कोलकाता । पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी में एक अनाथालय से बच्चो को विदेशो में बेचे जाने के मामले में एक बीजेपी नेता का नाम आने से बीजेपी में हड़कंप मच गया है । इस मामले में सीआईडी की टीम ने बच्चों के एक एनजीओ की अध्यक्ष सहित दो लोगों को अनाथालय से बच्चो को बेचने के आरोप में गिरफ्तार किया है।

टेलीग्राफ में प्रकाशित खबर के मुताबिक, इस मामले में बंगाल भाजपा महिला मोर्चा की महासचिव जूही चौधरी का नाम भी सामने आया है। अधिकारियों ने बताया कि बच्चों को बेचने के इस कारोबार में जूही चौधरी प्रमुख संदिग्ध है। बिमला शिशु गृहो के कागजात के नवीकरण को लेकर वो खुद कई बार दिल्ली जाती रहीं। इतना ही नहीं आरोपी चंदना चक्रवर्ती ने भी दावा किया है कि भाजपा नेता जूही चौधरी ने उसकी कई केंद्रीय नेताओं से मुलाकात करवाई थी।

अनाथालय से विदेशो में बच्चे बेचे जाने के इस सनसनीखेज मामले की जांच कर रहे अधिकारियों ने भी इस रैकेट के तार प्रदेश भाजपा महिला मोर्चा की महासचिव से जुड़े होने की आशंका जताई है। टेलीग्राफ के अनुसार सात सदस्यीय सीआईडी टीम ने बिमला शिशु गृहो की अध्यक्ष चंदना चक्रवर्ती को एनजीओ के कार्यालय से गिरफ्तार किया है। साथ ही संगठन की चीफ अडॉप्शन ऑफिसर भी गिरफ्तार की गई है।

आरोपी अब तक अनाथालय में रह रहे एक से 14 वर्ष की आयु वर्ग के करीब 17 बच्चों का सौदा कर चुके थे। बच्चों को भारत सहित अमेरिका, सिंगापुर, स्पेन और फ्रांस के दंपतियों को बेचा गया। इस काले कारोबार में बच्चों के बदले दस लाख तक की कीमत वसूली गई. हालांकि, ये भी आरोप है कि कई बार पैसे लेने के बाद भी दंपतियों को बच्चे नहीं सौंपे गए।

मामला प्रकाश में आने के बाद बीजेपी में हड़कंप मच गया है । प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने आरोप लगाया है कि बंगाल सरकार कई भाजपा नेताओं को जबरन फंसा रही है। उन्होंने ये भी कहा कि भाजपा महिला मोर्चा की महासचिव जूही चौधरी पर लगे आरोप यदि सही पाए जाते हैं तो उनकी सदस्यता रद्द कर दी जाएगी।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *